नवरात्रि में विवाह के लिए वर या कन्या देखने का है प्लान? तो जानें शुभ मुहूर्त

हिंदू धर्म में शारदीय नवरात्रि का विशेष महत्व है। इन 9 दिनों में मां दुर्गा की पूजा की जाति है। हिंदू शास्त्रों के अनुसार, इस 9वें दिन मां दुर्गा धरती पर निवास करती हैं और भक्तों को हर मनोकामना पूरी करने का आशीर्वाद देती हैं। क्योंकि इन 9 दिनों में मां दुर्गा हर जगह मौजूद रहती हैं। इसलिए यह समय बहुत ही शुभ होता है और इस दौरान सभी शुभ कार्य किए जाते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस अवधि में किए गए सभी कार्य शुभ और फलदायी होते हैं।

शारदीय नवरात्रि 2022 कब से है शुरू?

इस साल शारदीय नवरात्र 26 सितंबर से शुरू हो रहे हैं। नवरात्रि का पहला दिन 26 सितंबर सोमवार से 5 अक्टूबर तक मनाया जाएगा। 5 अक्टूबर को मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जित कर नवरात्रि पर्व का समापन होगा।

शारदीय नवरात्रि में कब है वर –कन्या देखने की शुभ मुहूर्त

धार्मिक ग्रंथों के अनुसार नवरात्रि के नौ दिन शुभ माने गए हैं। शास्त्रों के अनुसार नवरात्रि की नौ तिथियां ऐसी हैं कि कोई भी शुभ कार्य मुहूर्त का पालन किए बिना किया जा सकता है। जो लोग इस कन्या को विवाह के लिए देखने की योजना बना रहे हैं, वे इस शारदीय नवरात्रि (Navratri 2022 Date) के शुभ अवसर का लाभ उठा सकते हैं। धार्मिक ग्रंथों के अनुसार नवरात्रि के पहले दिन यानी प्रतिपदा को छोड़कर आप किसी भी दिन दुल्हन से मिलने जा सकते हैं और उसकी शादी की तारीख कन्फर्म कर सकते हैं।वर-वधू के दर्शन के लिए जाते समय भद्रा और दिशशूल का ध्यान रखना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भद्र काल और दिशा शुल में किसी भी शुभ कार्य के लिए घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। अशुभ होता है।

अष्टमी और नवमी को कन्या देखना होता है शुभ

धार्मिक ग्रंथों के अनुसार इस कन्या को नवरात्रि की अष्टमी और नवमी तिथि पर देखना उत्तम होता है। इसके अलावा नवरात्रि (Navratri 2022 Date) के शुभ अवसर पर लोग कोई नया व्यवसाय शुरू करते हैं या अपने नए घर में प्रवेश करते हैं।

 

 

 

+