उत्तराखंड के लिए गर्व का पल कॉलेज के प्रोफेसर जयहरीखाल मधवाल को मिला इंटरनेशनल अवार्ड

उत्तराखंड को गौरवान्वित करने वाले प्रोफेसर शैलेन्द्र प्रकाश मधवाल के खाते में एक और उपलब्धि जुड़ गई है। जयहरीखाल डिग्री कॉलेज में सेवाएं दे रहे डॉ. शैलेंद्र प्रकाश मधवाल को वीडीजी प्रोफेशनल एसोसिएशन, अंतरराष्ट्रीय फोरम फॉर इंजीनियरिंग, साइंस एंड मेडिसिन हैदराबाद ने इंटरनेशनल साइंटिस्ट अवार्ड और लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड-2020 से नवाजा है। डॉ. शैलेंद्र प्रकाश मधवाल को यह सम्मान रसायन विज्ञान के क्षेत्र में किए गए उत्कृष्ट शोध के लिए दिया गया। पुरस्कार के तौर पर उन्हें सर्टिफिकेट ऑफ अचीवमेंट एवं अवॉर्ड ट्रॉफी प्रदान की गई। डॉ. शैलेंद्र प्रकाश मधवाल ने अपना शोध रसायन विज्ञान के क्षेत्र में किया है। जिसमें डॉ. मधवाल ने ऐसे यौगिकों का शोध किया, जो पोटेंशियल बायोलॉजिकल एक्टिविटी के साथ एंटीमाइक्रोबियल, एंटीफंगल एवं एंटी ट्यूमर इनहिविटर एक्टिविटी रखते हैं।

डॉ। शैलेंद्र प्रकाश मधवाल ने विज्ञान के क्षेत्र में भी कई उत्कृष्ट उपलब्धियों को पूरा किया है। 2016 में, दक्षिण अमेरिका विश्वविद्यालय ने प्रोफेसर मधवाल को अपने सबसे उल्लेखनीय सम्मान, मानद डॉक्टर ऑफ लेटर्स से सम्मानित किया। इसी तरह उन्हें भारत रत्न, राष्ट्रीय विद्या सरस्वती पुरस्कार और विद्या रत्न गोल्ड मेडल दिया गया। 2012 में, उन्हें अतिरिक्त रूप से एशिया पैसिफिक इंटरनेशनल अवार्ड दिया गया। यह सम्मान प्रत्येक वर्ष इंजीनियरिंग, विज्ञान और चिकित्सा के क्षेत्र में असाधारण परीक्षा के लिए इस सभा द्वारा दिया जाता है। इन पंक्तियों के साथ, डॉ। शैलेंद्र प्रकाश मधवाल, विज्ञान के क्षेत्र में नई उपलब्धियाँ बनाकर उत्तराखंड के आकलन का विस्तार कर रहे हैं। यही नहीं, वे इसी तरह विज्ञान के क्षेत्र में प्रगति के लिए समझ का प्रचार कर रहे हैं। बार-बार, प्रोफ़ेसर शैलेंद्र प्रकाश मधवाल लांसडाउन के सरकारी पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज, जयहरीखाल में रसायन विज्ञान विभाग में रसायन विज्ञान के प्रोफेसर और प्रमुख के रूप में भर रहे हैं। राज्य ऑडिट समूह को कई बधाई। डॉ। मधवाल की सिद्धि का भ्रमण इसी तरह आगे बढ़ता है, हम इसके समकक्ष कामना करते हैं।

+