अब देहरादून-हरिद्वार हाईवे पर लगने लगेगा टोल टैक्स..

कृपया ध्यान दें कि देहरादून-हरिद्वार राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहन चालक। अब इस हाईवे से दून आने और जाने वाले पर्यटकों और आम वाहनों को भी इसके लिए शुल्क देना होगा। वाहन चालकों से टोल टैक्स वसूला जाएगा। इसके लिए डोईवाला के लच्छीवाला इलाके में एक टोल टैक्स बैरियर बनाया गया है। अवरोध तैयार है, साथ ही वहां से गुजरने वाले वाहनों के लिए शुल्क भी। टोल बैरियर के लिए ट्रायल 20 जनवरी से शुरू होने वाला है। इसके बाद 1 फरवरी से यहां से गुजरने वाले वाहनों से टोल टैक्स वसूला जाएगा। इस तरह से अब देहरादून-हरिद्वार हाईवे से गुजरने वाले ड्राइवरों को अपनी जेब ढीली करनी होगी। आइए आज हम आपको वाहनों के टोल टैक्स के बारे में बताते हैं। टोल प्लाजा से 20 किमी की दूरी पर रहने वाले स्थानीय लोगों के लिए एक मासिक पास की व्यवस्था की गई है। इसके लिए प्रति माह 275 रुपये शुल्क निर्धारित किया गया है। जबकि कार, जीप और वैन के लिए एक तरह से शुल्क 70 रुपये निर्धारित है। स्थानीय वाहनों को एक तरह से 35 रुपये और 24 घंटे के लिए 105 रुपये का भुगतान करना होगा। एक महीने के लिए 2295 रुपये का शुल्क निर्धारित है। एलसीबी, एलजीबी और मिनी बस को 110 रुपये का भुगतान करना होगा।

24 घंटे के लिए 165 रुपये और एक माह के लिए 3705 रुपये देने होंगे। साथ ही स्थानीय वाहन वालों को 55 रुपये चुकाने होंगे। ट्रक या बस 2 एक्सएल को एक तरफ के 235 रुपये, 24 घंटे के लिए 350 रुपये और एक महीने के लिए 7760 रुपये देने होंगे। कमर्शियल वाहन 3 एक्सएल को एक तरफ के 255 रुपये, 24 घंटे के लिए 380 रुपये और एक माह के लिए 8465 रुपये देने होंगे। स्थानीय वाहन वालों को 125 रुपये चुकाने होंगे। भारी निर्माण मशीनरी वाले वाहनों को एक तरफ के लिए 365 रुपये, 24 घंटे के लिए 550 रुपये और एक माह के लिए 12170 रुपये देने होंगे। बड़े आकार के वाहनों को एक तरफ के लिए 445 रुपये, 24 घंटे के लिए 665 रुपये और एक माह के लिए 14815 रुपये देने होंगे। स्थानीय वाहन को 220 रुपये चुकाने होंगे। बता दें कि देहरादून-हरिद्वार हाईवे पर लच्छीवाला मणि माई मंदिर के पास टोल टैक्स बैरियर बनाया गया है। टोल के लिए 10 लाइन तैयार की गई हैं। जिसमें पांच आने और पांच जाने के लिए हैं। टोल पर हाईटेक कैमरे भी लगाए गए हैं।

+