गौरवशाली पलः टोक्यो ओलंपिक में हरिद्वार की बेटी वंदना कटारिया ने रचा इतिहास, देश को दिलाई बड़ी जीत

उत्तराखंड की बेटियां का दबदबा जारी है। इग्लैंड में दून की बेटी स्नेह राणा के शानदार प्रदर्शन के बाद हरिद्वार की बेटी वंदना कटारिया टोक्यो ओलंपिक में धूम मचा रही है। वंदना कटारिया ने अपने शानदार प्रदर्शन और हैट्रिक से इतिहास रच दिया है। उनकी कामयाबी पर देश के साथ ही उनके स्वजन भी बेहद खुश हैं।

आपको बता दें कि वंदना कटारिया ने रोशनाबाद से अपनी हॉकी की यात्रा शुरू की थी। जब उन्होंने हॉकी की राह चुनी तो उस वक्त गांव में स्थानीय लोगों ने परिवार के साथ उनका भी मजाक उड़ाया था। लेकिन वंदना ने लोगों की बातों को अनसुना कर आज देश का नाम रोशन कर दिया है। बेटी के सपने को पूरा करन के लिए वंदना के माता- पिता ने समाज की परवाह न करते हुए बेटी की हिम्मत को बढाया। वंदना ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर देश के साथ-साथ उत्तराखंड, हरिद्वार और हम सब का मान बढ़ाया है। कुछ ही महीनों पहले वंदना ने अपने पिता को खोया है। ओलंपिक के कारण वह अपने पिता के अंतिम दर्शन तक नहीं कर पाई थी। अब उन्होंने पिता का सपना पूरा कर उन्हे सच्ची श्रद्धांजली दी है।

बता दें कि हरिद्वार की वंदना ने महिला हॉकी में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ करो या मरो के मैच में एक के बाद एक तीन गोल कर टीम को जीत दिलाई। शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत को जीत दिलाकर क्वार्टर फाइनल में पहुंचने की राह आसान कर दी। ओलंपिक में हैट्रिक करने वाली वंदना भारत की पहली महिला खिलाड़ी हैं। हॉकी इंडिया ने भी वंदना को ट्वीट कर उनकी इस उपलब्धि के लिए बधाई दी है। उनकी कामयाबी से खुशी का माहौल है।

 

+