दून की बेटी स्नेह राणा युवा पीढ़ी के लिए रोल माॅडल, बनेगी SGRR विवि की ब्रांड एंबेसडर, दुनिया में कर रही प्रदेश का नाम रोशन

मंजिल उन्हें मिलती है जिनके सपनों में जान होती है, पंख से कुछ नहीं होता हौसले से उड़ान होती है। किसी शायर की इन पंक्तियों को दून की बेटी स्नेह राणा पर ठीक से समझा है और साबित कर दिया है कि हौसले के दम पर आसमां भी हासिल हो सकता है। दृढ़ संकल्प और हौसलों की मिसाल बनी भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सदस्य व दून की बेटी स्नेह राणा इतिहास रच रही है। उनकी कामयाबी और मेहनत को देखते हुए SGRR विवि ने उन्हे अपना ब्रांड एंबेसडर बनाने और एक लाख रूपए देकर सम्मानित करने का ऐलान किया है।

बता दें कि एसजीआरआर स्कूल के रेसकोर्स ग्राउंड पर कोच नरेन्द्र शाह की शार्गिदगी में उन्होंने क्रिकेट की बारीकियों को सीखा व इंग्लैंण्ड में करिश्माई पारी खेलकर सबको अपनी क्रिकेट का मुरीद बना दिया। स्नेह ने दो माह पहले ही अपने पिता को खोया है। उन्होंने पांच साल बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी की है। और वह लगातार अपने खेल से इग्लेड की टीम को पछाड़ कर न सिर्फ देश को जीता रही है बल्कि इतिहास भी रच रही है। वह  देश का नाम रोशन कर रही है।

उन्होंने पहली पारी के चार विकेट भी चटकाए थे,  जिसके बाद उन्होंने हारा हुआ मैच ड्रॉ करा दिया था।उनकी कामयाबी और मेहनत को देखते हुए  श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्रीमहंत देवेन्द्र दास महाराज ने स्नेह राणा के सम्मान में एक लाख रुपये दिए जाने की घोषणा की है। स्नेहा राणा श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय की ब्रांड एम्बेसेडर भी होंगी। स्नेह राणा के देहरादून लौटने पर एसजीआरआर विश्वविद्यालय परिवार उन्हें सम्मानित करेगा।स्नेह राणा ने एसजीआरआर परिवार सहित उत्तराखण्ड व देश का नाम रोशन किया है यह हम सभी के लिए गर्व की बात है।

 

+