बाल और नाखून रात के वक्त क्यों नहीं काटे जाते? 99 फीसदी लोगों को नहीं पता इसकी वजह…!

आपने अपने बड़ों को यह कहते सुना होगा कि रात में बाल और नाखून नहीं काटने चाहिए। लेकिन कभी-कभी मुझे लगता था कि इसके पीछे क्या कारण है। आखिर हमारे बुज़ुर्ग ये करने से क्यों मन करते हैं? हिंदू धर्म में कई मान्यताएं हैं। धर्म का पालन करने वाले लोग इन पर विशेष ध्यान देते हैं। इन विचारों में एक से है रात के वक्त में बाल और निजलों का ना कटाना। शायद आप भी रात में बाल और निगेल नहीं कटे होंगे। बुजुर्ग लोग ऐसा करने से मना करते हैं। लेकिन कभी अपने सोचा है की अखरी ऐसा क्यों होता है। बाल और निगेल रात में क्यों नहीं कटे जाते हैं। आपको बता दें कि इसके पीछे धार्मिक मान्यताएं हैं लेकिन एक वैज्ञानिक कारण भी है। आइए समझाते हैं।

 यह एक धार्मिक कारण है

हिंदू धर्म में यह माना जाता है कि रात में बाल और नाखून नहीं काटने चाहिए। ऐसा माना जाता है कि रात में बाल और नाखून काटने से देवी लक्ष्मी क्रोधित हो जाती हैं। इसी वजह से धार्मिक लोग और घर के बड़े-बुजुर्ग रात में बाल और नाखून काटने से मना करते हैं।

वैज्ञानिक कारण क्या है?

रात में बाल और नाखून न काटने के पीछे एक वैज्ञानिक कारण भी है। दरअसल, रात में हम कई जरूरी काम करते हैं जैसे खाना-पीना, घूमना-फिरना और सोना। इस तरह कटे बाल इधर-उधर गिरते हैं। इससे कई बार बच्चे खाने-पीने की चीजों में गिर जाते हैं। ये हमारी सेहत को खराब कर सकते हैं। इसके साथ ही बालों के कारण गंदगी और बैक्टीरिया भी फैलते हैं। यही कारण है कि बच्चे को काटा नहीं जाता है।

 बाल न काटने के सामान्य कारण

रात में बाल और नाखून न काटने के नियम बहुत पहले ही बना दिए गए थे। उस समय घरों में रोशनी की अच्छी व्यवस्था नहीं थी। लोगों के लिए नाइट लाइट को मैनेज करना काफी मुश्किल था। इसलिए बाल और नाखून जैसे काम सूरज ढलने से पहले कर लेना चाहिए। क्योंकि अँधेरे में कैंची का इस्तेमाल करने से चोट लगने की संभावना रहती थी। इसलिए हमारे बुजुर्गों ने रात में इस काम को करने से मना कर दिया।

+