अगले महीने से उत्तराखंड में खुलेंगे सभी कॉलेज, साथ ही साथ चलेगी रेगुलर क्लास.

कोरोना काल में स्कूल-कॉलेजों को खोलना आसान काम नहीं था, लेकिन राज्य सरकार ने इसे चुनौती समझकर स्वीकार किया। नवंबर में सीमित छात्रों के लिए स्कूल खोल दिए गए। बाद में 15 दिसंबर से यूजी और पीजी के प्रैक्टिकल विषय वाले छात्र-छात्राओं के लिए कॉलेजों को खोला गया। वहीं दूसरे छात्र अब भी कॉलेजों के खुलने का इंतजार कर रहे हैं। इनके लिए भी एक राहतभरी खबर है। फरवरी के पहले हफ्ते से सभी छात्र-छात्राओं के लिए कॉलेज खुल जाएंगे, यानी कॉलेजों के खुलने का इंतजार अब बस खत्म ही होने वाला है। प्रदेश में पिछले दस महीने से बंद यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों को खोलने की तैयारी है। आज कॉलेज खोले जाने की तैयारी को लेकर उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह रावत की अध्यक्षता में सभी कुलपतियों के साथ बैठक होनी है। जिसमें जरूरी निर्णय लिए जाएंगे। फरवरी के पहले हफ्ते से कॉलेजों में कक्षाएं शुरू कराने की तैयारी है। पिछले साल मार्च में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य की सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों को बंद कर दिया गया था।

अंडरस्टुडिज़ ऑनलाइन मोड में ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, फिर भी प्रदेशों के युवा जहां संगठन काम नहीं करते हैं, इस कार्यालय का फायदा नहीं उठा सकते हैं। देर से, 15 दिसंबर से उपयोगी विषयों के साथ समझ के लिए विश्वविद्यालय खोले गए, फिर भी विभिन्न समझ के लिए स्कूल अभी भी बंद हैं। विश्वविद्यालयों में समझ की भागीदारी केवल 15 से 20 प्रतिशत थी। वर्तमान में वर्ष भ्रमण के ठंडे समय के समाप्त होने के बाद, स्कूल को खोलने के लिए सभी समझ के लिए तैयार किया जाता है। राज्य के राजकीय महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में 11 जनवरी से वर्ष का एक ठंडा समय चल रहा है। 20 कार्य दिवसों के लिए एक अवसर होगा। ऐसी परिस्थिति में, 4 फरवरी से 5 फरवरी तक स्कूल खुलेंगे। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ। धन सिंह रावत के अनुसार, शीतकालीन भ्रमण समाप्त होने पर सभी समझ के लिए स्कूल खोले जाएंगे। समझने वालों की परीक्षाओं में कोई कमी नहीं होगी। चिन्तकों के साथ-साथ, उनकी सुरक्षा भी हमारा कर्तव्य है। यह आदर्श होगा यदि आप बताएं कि राज्य में 105 सरकारी स्कूल हैं। इसके अलावा, 18 गुप्त रूप से सहायता प्राप्त स्कूल हैं। सभी विश्वविद्यालयों में लगभग दो लाख समझ है। स्कूल खुलने के बाद, इनमें से हर एक को नियमित रूप से स्कूल में कक्षाओं में जाने का विकल्प मिलेगा।

+