Breaking News
Home / खबरे / उत्तराखंड के जाने-माने बाबा नीम करौली के बड़े पुत्र का हुआ अचानक निधन ,भक्तों के बीच दौड़ पड़ी शोक की लहर……………

उत्तराखंड के जाने-माने बाबा नीम करौली के बड़े पुत्र का हुआ अचानक निधन ,भक्तों के बीच दौड़ पड़ी शोक की लहर……………

एक अलग ही प्रकार की भक्ति और लग्न देखने को मिलती है लेकिन भक्तों के लिए एक दुख भरी खबर आ रही है नैनीताल से जहां पर नैनीताल के विश्व प्रसिद्ध कैंची धाम के संस्थापक नीम करोली बाबा के जाने-माने बड़े बेटे अनिल सिंह शर्मा का बीते रविवार भोपाल में निधन हो गया इस खबर को सुनते ही भक्तों के बीच में शोक की लहर दौड़ पड़ी और उनके निधन के बाद से ही उनके भक्तों में काफी निराशा का माहौल देखा जा रहा है कैंची धाम के अन्य सदस्य में से एक गिरीश तिवारी ने बताया कि उनकी पिछले कई समय से तबीयत खराब चल रही थी जिसके कारण यह परिणाम हुआ कि उनकी बीते रविवार के दिन मृत्यु हो गई।

ऐसे में उनका विधिविधान से भोपाल में अंतिम संस्कार किया गया। अनेग शर्मा के निधन से उनके भक्तों में शोक की लहर छा गई है। इससे पहले 28 अप्रैल 2021 को बाबा नीम करौली के छोटे बेटे नारायण शर्मा के छोटे बेटे नारायण शर्मा का भी निधन हो गया था। अब बाबा के परिवार की एक ही सदस्य यानी उनकी बेटी गिरजा बची हैं जो आगरा में रहती हैं। नीम करौली महाराज के नजदीकी और धाम के सदस्य गिरीश तिवारी बताते हैं कि अनेग सिंह (Baba Neem Karoli Aneg Singh) का कैंची धाम से विशेष लगाव था और अनेग कई बार कैंची धाम आया जाया करते थे। बीते सोमवार शाम को सुहास नगर स्थित श्मशान घाट में अनेग सिंह का पूरे विधि विधान से अंतिम संस्कार किया गया।बाबा नीम करौली का जन्म सन 1900 में फर्रुखाबाद में हुआ था। उनका असली नाम लक्ष्मी नारायण शर्मा था। 11 साल की छोटी सी उम्र में ही उनका विवाह हो गया था। उनके दो पुत्र और एक पुत्री हुईं। विवाह के कुछ वर्ष बाद करौरी महाराज ने गृह त्याग कर संन्यासी बनाने का निर्णय कर लिया था। माना जाता है कि वर्षों के तप के बाद नीम करौली बाबा को सिद्धियां प्राप्त हुईं थीं।कहा जाता है कि नीम करोली महाराज हनुमान जी के बहुत बड़े भक्त थे और काफी ज्यादा संख्या में भक्त उनके साथ भक्ति में लीन रहा करते थे।

 

About kunal lodhi

Check Also

रामायण में त्रिजटा का किरदार निभाने वाली महिला बेटी की मां बनी, बेटी की मां बोलीं-रामायण में काम की वजह से मिला संतान सुख

रामानंद सागर की “रामायण” की लोकप्रियता आज भी कम नहीं हुई है। यह सीरियल जब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *