Breaking News
Home / खबरे / उत्तराखंड की लगभग 700 बसों में लगे जीपीएस टैग ,हमेशा रहेगी नजर बसों पर……………

उत्तराखंड की लगभग 700 बसों में लगे जीपीएस टैग ,हमेशा रहेगी नजर बसों पर……………

अभी कुछ ही दिनों पहले की बात है कि उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों में जीपीएस टैग लगाए गए हैं जिसे माना जाता है कि उन सभी बसों पर तीसरी आंखों की नजर रहेगी सभी बसों पर आपको बता देगी परिवहन निगम के लगभग सांसों में जीपीएस टैग लगाया जा चुका है मुख्य सचिव एसएस संधू की अध्यक्षता में हुई सड़क सुरक्षा को समिति बैठक में इस पूरे कार्यक्रम को मंजूरी दी गई जिसके लिए प्रतिवर्ष ₹8000 के हिसाब से 56 लाख रुपए की मंजूरी वाला बिल पास हुआ इन सभी बातों के साथ-साथ बसों पर तीसरी नजर रखने के लिए परिवहन विभाग में कमांडेंट कंट्रोल रूम स्थापित किया जा रहा है जिसके लिए कार्य प्रगति पर है। इस पूरे कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य है कि बसों पर सीधी नजर रखी जा सके ताकि विभाग को यह पता लग जाएगी कौन सी बस इस वक्त कौन से दूर पर है जिससे कि उन्हें आने वाले समय में काफी आसानी होगी और किसी भी प्रकार की मुसीबतों का सामना नहीं करना पड़े।

बता दें परिवहन निगम की बसों में सुरक्षित सफर और बसों के संचालन पर नजर रखने के लिए जीपीएस लगाने की प्रक्रिया यूं तो काफी पहले से शुरू हो गई थी और इस कड़ी में परिवहन निगम ने देहरादून से लखनऊ जाने वाली बस सेवा में जीपीएस लगाया था। हालांकि, कुछ समय बाद यह व्यवस्था बंद कर दी गई थी। दरअसल, परिवहन निगम को यह शिकायत मिल रही थी कि बसें कई बार आफ रूट, यानी निर्धारित मार्ग के स्थान पर दूसरे स्थानों पर चल रही हैं। सवारी कम होने की स्थिति में निगम की बसें पूरा फेरा भी नहीं ले रही थीं। इससे निगम की छवि और आय पर काफी असर पड़ रहा था। जिसे देखते हुए परिवहन निगम की 700 बसों में जीपीएस लगाए जाने का फैसला लिया गया है। तो वहीं सचिव परिवहन डा रणजीत सिन्हा ने परिवहन निगम को इस कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।

About kunal lodhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *